Friday, July 15, 2011

शिक्षा का क्रमिक कुविकास

गुरुपूर्णिमा के अवसर पर बहुत से लोगों को श्लोक एवं कविता पाठ करते देख कर मेरा मन भी कुलबुलाया कि भला मैं पीछे कैसे. मैंने भी कंप्यूटर खटखटाना शुरू किया तो निकल कर आई भारतवर्ष में शिक्षा तथा इससे जुड़े पहलुओं के क्रमिक कुविकास की श्रृंखला, जो कि मैं यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ -
गुरु : ब्रह्मा-विष्णु-महेश > गुरुदेव > आचार्य > अध्यापक > सर > टकला सर - गैंडा सर -
        कानिया.........
शिष्य : वत्स > शिष्य > छात्र > स्टुडेंट > फलाने जी.....
विद्यालय : आश्रम > गुरुकुल > पाठशाला > विद्यालय > स्कूल > कोंलेज > यूनिवर्सिटी >
                 याहू चैट > ब्लॉग > ऑरकुट > फेसबुक > ट्विटर....
शिक्षा : ध्यान - चिंतन - मनन - साधना > पठन-पाठन > शिक्षा > अध्यापन > ट्यूशन >
            कोचिंग > एजुकेशन इंडस्ट्री.....
पुस्तक : गुरुवाणी > पाण्डुलिपि > ग्रन्थ > पुस्तक > किताब > कैसेट > सीडी > इन्टरनेट....
पुस्तकालय : गुरु > पाण्डुलिपि संग्रह > ग्रंथालय > पुस्तकालय > लाइब्रेरी > गूगल ..............

No comments:

Post a Comment