Monday, September 05, 2011

इस दिल को पहली बार....

इस दिल को पहली बार कोई दुखाता चला गया
वाकई वो हुनरमंद था दुआ पाता चला गया,
लफ्ज़ नहीं थे इसलिए मुस्कुरा के रह गए
वो आराम से अपना नश्तर चलाता चला गया....


1 comment: