Sunday, January 01, 2012

चलिए चला गया 2011....

चलिए चला गया 2011 
ले गया अपने साथ -
देव - शम्मी - नवाब पटौदी 
भीमसेन जोशी, जगजीत सिंह और
मकबूल फ़िदा हुसैन साहब को,
दे गया राहत दुनिया को -
ओसामा और गद्दाफी से.....
साथ में दे गया सिर दर्दियाँ -
तमाम घोटालों और महंगाई की 
लुढ़कते सेंसेक्स और रुपये की,
भ्रष्टाचार और लोकपाल पर
राजनीति और कूटनीति की....
लीजिये आ रहा है 2012
कामना है कि लाये अपने साथ -
कुछ ख़ास उपलब्धियां
कुछ ख़ास खुशहालियां,
दे जाए कुछ राहत -
बढती महंगाई से - भ्रष्टाचार से
बढ़ते अपराधों और घोटालों से,
कर जाए पूरी तरह से सफाया -
आतंकवादियों - नक्सलवादियों का
भुखमरी और बेरोज़गारी का....
और दे जाए कुछ सदबुद्धि - 
हमारे राजनेताओं को कि
अपने बारे में ही नहीं 
कुछ देश के बारे में भी सोचें,
हमारे युवाओं को कि
पति - पत्नी - प्रेमिका के अलावा
माँ - बाप के बारे में भी सोचें....
फेसबुक के साथ - साथ 
लाइफ बुक के बारे में भी कुछ सोचें...
बाहरी तकनीक की नक़ल के साथ-साथ
अपनी अक्ल लगाने पर भी कुछ सोचें...
पिज्जा - बर्गर - कोक निगलते हुए
कम उम्र में ही बढ़ते मोटापे और 
बिगड़ते स्वास्थ्य पर भी कुछ सोचें...
टीवी पर बेमतलब मनोरंजन के साथ - साथ
सार्थक कार्यक्रमों पर भी कुछ सोचें.....
बहुत हो गया..........चलिए अब हम
आप सभी को नए साल के लिए 
हार्दिक शुभकामना भी तो दे दें.........
" नया साल हम सभी के लिए 
विशेष सुख - शांतिमय, हर्ष - आनंदमय, 
सफलता - उन्नति - यश - कीर्तिमय और
विशेष स्नेह - प्रेम एवं सहयोगमय हो !!!!

2 comments:

  1. नव वर्ष पर सार्थक रचना
    आप को भी सपरिवार नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

    शुभकामनओं के साथ
    संजय भास्कर

    ReplyDelete
  2. बहुत बढिया प्रस्तुति,मन की भावनाओं की सुंदर अभिव्यक्ति ......
    WELCOME to--जिन्दगीं--

    ReplyDelete