Sunday, August 07, 2011

फ्रेंड दिवस तक आ पहुंची है अपनी रेलगाड़ी...

फ्रेंड दिवस तक आ पहुंची है अपनी रेलगाड़ी
चलो दोस्तों तैयार हो जाओ बना-वना कर दाढी
बना-वना कर दाढी कुल्ला - उल्ला कर लो
खखार - वखार कर गला - वला अच्छी तरह साफ़ कर लो
क्योंकि अब तो सारा दिन दोनों गाल बजाना है
और दोस्ती से जुड़े अच्छे - अच्छे शब्द
dictionary से ढूंढ - ढ़ाढ कर लाना है...
चलो जल्दी - जल्दी wish करो नहीं तो
ये गाडी छूट जायेगी,
और फिर दोस्ती का जश्न मनाने की
लास्ट डेट निकल जाएगी....
रिश्तों में भी लास्ट डेट घुस गया बड़ा अच्छा है
अब तो Manufacturing और expiry date लिए
पैदा होता बच्छा है......

3 comments:

  1. बहुत बढ़िया चर्चित साहब.....सही जा रहे हो....

    वैसे मित्रता दिबस मुबारक हो आपको......

    ReplyDelete
  2. Aapki abtak ki yahi kavita achhi lagi.Saadhuvaad!!

    ReplyDelete
  3. waah kya sachhai bayaan ki hai jhoote dikhaawe par

    ReplyDelete