Sunday, November 05, 2017

आओ बैठो न अजनबी हो क्या...


मशहूर #शायर जॉन #ऍलिया के एक शेर के एक पंक्ति
' मुझसे मिलकर उदास भी हो क्या ' पर आधारित एक तरही #गजल...

ख्वाब में आये थे वही हो क्या
आओ बैठो न अजनबी हो क्या

सिर्फ गम ही मिले हैं किस्मत से
अब मिली जाके तुम खुशी हो क्या

मौत का इन्तजार था मुझको
और तुम मेरी जिन्दगी हो क्या

बनके आये तो थे खुशी लेकिन
मुझसे मिलकर उदास भी हो क्या

भाव इतना क्यों खा रहे चर्चित
तुम ही दुनिया में आखिरी हो क्या

- #विशाल #चर्चित

2 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (07-11-2017) को
    समस्यायें सुनाते भक्त दुखड़ा रोज गाते हैं-; 2781
    पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete